- Advertisement -
HomeLocal newsकान्हा पार्क में प्रतिदिन आयोजित हो रही बाघिन सफारी के दौरान पर्यटकों...

कान्हा पार्क में प्रतिदिन आयोजित हो रही बाघिन सफारी के दौरान पर्यटकों ने बाघिन नैना को 20 मिनट तक देखा।

- Advertisement -

प्रकाशन तिथि: | मंगल, 08 जून 2021 04:04 पूर्वाह्न (आईएसटी)

मंडला (न्यूजीलैंड के प्रतिनिधि)। कान्हा टाइगर रिजर्व में आए दिन बाघ देखे जा रहे हैं। कभी नैना तो कभी नीलम अपने बच्चों के साथ नजर आ रही हैं। सोमवार को एक बार फिर नैना बाघिन और नीलम बाघिन को उनके तीन बच्चों के साथ कान्हा अंचल में सुबह देखा गया। पर्यटकों ने अलग-अलग मौकों पर दो बाघिन और तीन शावकों को देखा। उन्हें देखकर पर्यटक काफी रोमांचित हो उठे। कान्हा आने वाले पर्यटकों का कहना है कि कान्हा में अब पहले से ज्यादा बाघ देखे जा रहे हैं। जहां पहले पर्यटकों को कई बार मायूस होकर लौटना पड़ता था। अब ऐसा शायद ही कभी हो रहा हो। फिर भी कई पर्यटकों को सफारी के दौरान बाघों की खोज करने का सौभाग्य नहीं मिलता है। लेकिन आए दिन कहीं न कहीं टाइगर रिजर्व में पर्यटकों को बाघ दिखाई दे रहे हैं।

नैना शिफ्ट करती रही मस्तानी : अभिषेक धारीवाल और अभिषेक धारीवाल सोमवार को परिवार के साथ सफारी पर गए थे। सुबह अचानक उन्होंने नैना को सामने से बाघिन को आते देखा। जिप्सी को रोककर यात्रियों ने उसे पास आते देखा। उन्होंने कहा कि यह एक बेहतरीन वेबसाइट है। नैना को बाघिन को करीब से देखने का मौका मिला। देखते ही देखते नैना का मस्तानी ट्रांसफर हो गया। करीब 20 मिनट तक पर्यटकों को नैना से मिलने का मौका मिला। हम आगे बढ़े तो नीलम बाघिन भी जंगल से पगडंडी पार करते हुए आगे बढ़ती नजर आई। उसके साथ उसके तीन शावक भी थे। अन्य पर्यटकों ने माना लेकिन हमें देखने का मौका नहीं मिला। धारीवाल परिवार ने कहा कि कान्हा का सफर शानदार रहा। एक बार फिर लौटना पसंद करेंगे।

ऑनलाइन बुकिंग कर पहुंचे पर्यटक : कान्हा टाइगर रिजर्व कोरोना काल के बाद देश भर से पर्यटकों का सबसे पसंदीदा पर्यटन स्थल बन गया है। इन दिनों पार्क खुलते ही दिन-ब-दिन बड़ी संख्या में पर्यटक आ रहे हैं। एक जून से पार्क खुलने के बाद पर्यटकों की संख्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। यहां आने के बाद जहां पर्यटकों को सबसे अच्छे शुद्ध स्थान पर जाकर रहने को मिलता है। इसलिए प्रकृति के पास रहने के दौरान सफारी के दौरान बाघों को देखने के अलावा कई तरह के वन्य जीव भी देखने को मिलते हैं। जिससे पार्क खुलते ही पर्यटक ऑनलाइन बुकिंग कर कान्हा आ रहे हैं।

एक महीने से खुला है पार्क : पार्क को जून माह के लिए ही खोला गया है। कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए जिले में डेढ़ महीने के लिए कोरोना कर्फ्यू लगाया गया था। जिसके चलते कान्हा पार्क को भी बंद कर दिया गया। अब पार्क खोल दिया गया है। यह प्रत्याशित रूप से हो रहा है। पिछले साल की तरह इस बार भी कान्हा पर्यटकों के लिए राजी हैं। पार्क पिछले साल 15 दिनों के लिए खोला गया था। इस साल इसे पूरे एक महीने के लिए खोला गया है। यदि मानसून समय पर नहीं आता है तो पर्यटक पार्क में घूमने जाते हैं। पार्क के अंदर की कच्ची सड़कें मानसून आने पर टूट जाती हैं और इसके बाद जुलाई से लेकर मानसून सीजन तक पर्यटकों के लिए पार्क करीब तीन महीने के लिए बंद रहता है। पर्यटक केवल बफर जोन में ही पार्क में जा सकेंगे।

सोमवार को 661 पर्यटकों ने की सफारी पार्क में आने वालों की संख्या काफी देखने को मिल रही है। हालांकि कोविड काल के बाद इतने पर्यटकों का आना कान्हा के लिए आने वाले समय में एक अच्छा संकेत है। सोमवार को 661 पर्यटकों ने पार्क में सफारी की और बाघ को देखा। सुबह 407 और शाम को 254 पर्यटकों ने पार्क का भ्रमण किया। उद्यान प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार एक सप्ताह में ढाई हजार पर्यटक आ चुके हैं और सफारी की 525 यात्राएं की जा चुकी हैं।

उनका कहना

करीब ढाई हजार पर्यटक पार्क में घूमने आए हैं और 525 यात्राएं पूरी कर ली हैं। पार्क में सफारी के लिए काफी संख्या में पर्यटक आ रहे हैं।

एसके सिंह, क्षेत्र निदेशक, कान्हा टाइगर रिजर्व

Posted By: Nai Dunia News Network

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

Related News

- Advertisement -spot_img
Visit Us On FacebookVisit Us On Twitter