- Advertisement -
HomeNewsHindi Newsतालिबान सरकार LIVE: पाकिस्तान चाहता है कि हक्कानी समुदाय तालिबान सरकार की...

तालिबान सरकार LIVE: पाकिस्तान चाहता है कि हक्कानी समुदाय तालिबान सरकार की कमान में आए, इसलिए आईएसआई प्रमुख काबुल पहुंचा; पूर्व सांसद का दावा

- Advertisement -

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हामिद शनिवार को काबुल पहुंचे। यह तस्वीर काबुल के सेरेना होटल की है।

अफगानिस्तान में तालिबानी सरकार की घोषणा से पहले पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हामिद के काबुल पहुंचने को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं। इस बीच अफगानिस्तान की पूर्व सांसद मरियम सोलेमानखिल ने कहा है कि आतंकी संगठन हक्कानी समुदाय के मुखिया को तालिबान सरकार का मुखिया बनाने और मुल्ला अब्दुल गनी बरादर को शिखर बनने से रोकने के लिए आईएसआई प्रमुख काबुल पहुंचे हैं।

मरियम ने यह भी कहा है कि तालिबान गुटों और मुल्ला बरादर के बीच कई मुद्दों पर असहमति है और बरादर ने पंजशीर में जारी संघर्ष से अपने लोगों को दूर किया है। मरियम के इस बयान से पहले कयास लगाए जा रहे थे कि मुल्ला बरादर तालिबान सरकार का मुखिया भी हो सकता है.

काबुल में प्रदर्शन कर रही लड़कियों पर तालिबान का हमला
अफगानिस्तान में तालिबान के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन शनिवार को हिंसक हो गया। तालिबान ने काबुल में महिला अधिकारों की आवाज उठाने वाले कार्यकर्ताओं को आंसू गैस छोड़ कर रोकने की कोशिश की. दो दिन से धरना प्रदर्शन कर रही इन महिलाओं का कहना है कि वे नई सरकार में हिस्सा लेकर अहम भूमिका निभाएंगी।

काबुल में महिलाओं के प्रदर्शन के दौरान तालिबान ने प्रदर्शनकारियों पर जानलेवा हमला भी किया है। महिला कार्यकर्ता नरगिस सद्दात ने आरोप लगाया कि शनिवार को लड़कियों के अधिकार कार्यकर्ताओं के नेतृत्व में एक विरोध प्रदर्शन के दौरान तालिबान ने उन पर हमला किया। उसके चेहरे पर चोट के निशान भी हैं।

नरगिस ने बताया कि तालिबान ने उनके चेहरे पर बंदूक की बट से हमला किया। जिसके बाद उनके चेहरे से खून निकलने लगा। टोलो न्यूज के मुताबिक तालिबान ने मार्च कर रही महिलाओं को राष्ट्रपति भवन की ओर जाने से रोका और उन पर आंसू गैस के गोले दागे। कई पत्रकारों ने भीड़ पर फायरिंग का आरोप भी लगाया है.

तालिबान अगले सप्ताह नए अधिकारियों की घोषणा करेगा
तालिबान नेता शुक्रवार को ही सरकार बनाने की तैयारी कर रहे थे, लेकिन पंजशीर में विद्रोही गुट से भीषण लड़ाई के बाद शनिवार को सरकार बनाने की बात कही गई। तब तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने शनिवार को कहा कि हमारे नेता अंतरराष्ट्रीय समुदाय को एक सुरक्षित और संपूर्ण खाका पेश करने की तैयारी कर रहे हैं। इसलिए सरकार गठन पर अब अगले सप्ताह फैसला लिया जाएगा।

भारत ने कहा- तालिबान पर नजर रखे पाकिस्तान
अफगानिस्तान के मुद्दे पर भारत के विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने वाशिंगटन में मीडिया से बातचीत में कहा है कि अमेरिका और भारत अफगानिस्तान के हालात पर नजर बनाए हुए हैं। साथ ही कहा कि अफगानिस्तान का पड़ोसी पाकिस्तान तालिबान का समर्थन करता है और वह तालिबान को बनाए रखता है। ऐसे कई मुद्दे हैं जिनसे पाकिस्तान ने तालिबान की मदद की है, इन बातों को ध्यान में रखते हुए पाकिस्तान की स्थिति पर नजर रखी जानी चाहिए। श्रृंगला ने यह भी कहा कि अफगानिस्तान में जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकवादी संगठनों की अबाध कार्रवाई और स्थिति चिंताजनक है। हम इस पर सतर्क नजर रखेंगे।

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

Related News

- Advertisement -spot_img
Visit Us On FacebookVisit Us On Twitter