- Advertisement -
HomeNewsHindi Newsपाकिस्तान की जिद के कारण टली सार्क बैठक: तालिबान नेता को बैठक...

पाकिस्तान की जिद के कारण टली सार्क बैठक: तालिबान नेता को बैठक में शामिल कराना चाहता था पाकिस्तान, भारत समेत अन्य देशों ने किया विरोध

- Advertisement -

सार्क समूह में भारत, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका और अफगानिस्तान शामिल हैं, लेकिन दुनिया ने अफगानिस्तान में तालिबानी सरकार को नहीं माना है।-फाइल फोटो

दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) देशों के अंतरराष्ट्रीय मंत्रियों की 25 सितंबर को होने वाली बैठक पाकिस्तान के तालिबानी गुस्से के कारण रद्द करनी पड़ी। न्यूज एजेंसी एएनआई के सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान चाहता था कि न्यूयॉर्क में होने वाली इस बैठक में अफगानिस्तान के सलाहकार के रूप में एक तालिबान नेता को शामिल किया जाए, लेकिन भारत सहित अन्य सदस्य देशों ने इसका विरोध किया। ऐसे में आम सहमति के अभाव में बैठक रद्द कर दी गई।

अन्य देश चाहते थे कि अफगानिस्तान की कुर्सी खाली रहे
सार्क के ज्यादातर सदस्य चाहते थे कि बैठक के दौरान अफगान सलाहकार की कुर्सी खाली रहे, लेकिन पाकिस्तान इस पर अड़ा था कि तालिबान सरकार के सलाहकार को बैठक में शामिल किया जाए। दरअसल, भारत समेत दुनिया के प्रमुख देशों ने अफगानिस्तान में बनी तालिबान सरकार को अभी तक स्वीकार नहीं किया है। संयुक्त राष्ट्र ने तालिबान सरकार के विदेश मंत्री अमीर खान मुताकी समेत कई मंत्रियों को ब्लैकलिस्ट भी किया है। ऐसे में मुताक्की संयुक्त राष्ट्र से जुड़े किसी भी कार्यक्रम में हिस्सा नहीं ले पाएंगे.

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले हफ्ते शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में अपने डिजिटल संबोधन में कहा था कि अतिवाद कई मुद्दों का आधार है और अफगानिस्तान में जो हुआ वह उसका परिणाम है। उन्होंने यह भी कहा कि तालिबान की गैर-समावेशी सरकार को पहचानने से पहले दुनिया को सोचना चाहिए। इस अथॉरिटी में महिलाओं और अल्पसंख्यकों को शामिल नहीं किया गया है।

सार्क में 8 अंतर्राष्ट्रीय स्थान शामिल हैं
सार्क दक्षिण एशिया में 8 देशों का एक क्षेत्रीय समूह है। इसमें भारत, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका और अफगानिस्तान शामिल हैं। 8 दिसंबर 1985 को बने इस समूह का लक्ष्य आपसी सहयोग के माध्यम से दक्षिण एशिया में शांति और प्रगति के तरीकों की तलाश करना है।

 

खबरें और भी हैं…

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

Related News

- Advertisement -spot_img
Visit Us On FacebookVisit Us On Twitter