- Advertisement -spot_img
HomeCoronavirus94% तक असरदार कोरोना वैक्सीन बनाने वाली मॉडर्ना US में इमरजेंसी यूज...

94% तक असरदार कोरोना वैक्सीन बनाने वाली मॉडर्ना US में इमरजेंसी यूज के लिए मांगेगी अप्रूवल

- Advertisement -spot_img

  • Hindi News
  • International
  • Coronavirus Pandemic Country Wise Cases LIVE Update; USA Pakistan China Brazil Russia France Spain Recovery Rate Covid 19 Cases

 

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

 

न्यूयॉर्क2 घंटे पहले

मॉडर्ना को उम्मीद है कि 2020 के आखिर तक उसकी वैक्सीन के अमेरिका में लगभग 20 लाख डोज उपलब्ध होंगे।

अमेरिकी दवा कंपनी मॉडर्ना ने सोमवार को बताया कि वह अपनी कोरोना वैक्सीन के इमरजेंसी यूज की मंजूरी के लिए अमेरिका और यूरोपियन रेगुलेटर्स के पास एप्लाई करेगी। कंपनी का दावा है कि यह वैक्सीन कोरोना से लड़ने में 94 प्रतिशत तक कारगर है।

एक हफ्ते पहले ही अमेरिका एक और कंपनी फाइजर और उसकी पार्टनर जर्मन कंपनी बायो एन टेक ने US रेगुलेटरी से अप्रूवल मांगा था। मॉडर्ना को उम्मीद है कि 2020 के आखिर तक उसकी mRNA-1273 वैक्सीन के अमेरिका में लगभग 20 लाख डोज उपलब्ध होंगे। कंपनी 2021 तक 50 करोड़ से एक अरब तक डोज बनाने की तैयार कर रही है।

मॉडर्ना ने यह वैक्सीन US नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ की मदद से तैयार की है। पिछले सप्ताह आए इसके ट्रायल के नतीजे 94% से ज्यादा असरदार रहे हैं। ये नतीजे पूरे अमेरिका में किए गए 196 ट्रायल में मिले हैं। इनमें से 185 को डमी शॉट और 11 को वैक्सीन लगाई गई। डमी शॉट लेने वाले वॉलंटियर्स में कुछ गंभीर साइड इफेक्ट और एक मौत की जानकारी सामने आई है।

यूरोप में अब सबसे ज्यादा मौतें हो रहीं

यूरोप के 10 देशों में हर दिन 100 से ज्यादा लोग जान गंवा रहे

यूरोप के 10 देशों में हर दिन 100 से ज्यादा लोग जान गंवा रहे

कोरोना से सबसे ज्यादा मौतें अब यूरोप में हो रहीं हैं। यहां हर दिन 3-4 हजार लोग संक्रमण से दम तोड़ रहे हैं। यहां इटली, पोलैंड, रूस, यूके, फ्रांस समेत 10 देश ऐसे हैं जहां हर दिन 100 से 700 लोग जान गंवा रहे हैं। यूरोप के 48 देशों में अब तक संक्रमण से 3.86 लोगों की मौत हो चुकी है।

हर दिन होने वाली मौतों में दूसरे नंबर पर नॉर्थ अमेरिका और तीसरे पर एशिया है। नॉर्थ अमेरिका में हर दिन 1500 से 2000 मरीजों की मौत हो रहीं, जबकि एशिया में हर दिन 1400 से 1800 लोग जान गंवा रहे।

अमेरिका में 50 लाख और फ्रांस में 20 लाख एक्टिव केस
अमेरिका में अभी सबसे ज्यादा 50 लाख एक्टिव केस हैं। मतलब ऐसे मरीज जिनका इलाज चल रहा है। फ्रांस में ऐसे मरीजों की संख्या 20 लाख, इटली में 7.94 लाख, ब्राजील में 5.63 लाख एक्टिव मरीज हैं। भारत में ऐसे मरीजों की संख्या 4.46 है।

अमेरिका में लगातार दूसरी लहर आने की चेतावनी

अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिसीज के डायरेक्टर डॉ. एंथनी फॉसी ने एक के बाद लगातार दूसरी लहर आने की चेतावनी दी है। NBC न्यूज चैनल के एक प्रोग्राम में फॉसी ने कहा कि अचानक से कुछ बदलने नहीं जा रहा। हालांकि अभी भी देर नहीं हुई है। लोग थैंक्सगिविंग की छुट्टियां मनाकर घर लौट रहे हैं। सभी मास्क पहने, बड़े ग्रुप न बनाएं और सोशल डिस्टेंसिंग बरकरार रखें।

फोटो लॉस एंजिल्स की है। अमेरिका में आज से कोरोना प्रतिबंधों रिन्यू हो रहे हैं। नई पाबंदियां लगें, इससे पहले रविवार को लोगों ने बीच पर जाकर लुत्फ उठाया।

फोटो लॉस एंजिल्स की है। अमेरिका में आज से कोरोना प्रतिबंधों रिन्यू हो रहे हैं। नई पाबंदियां लगें, इससे पहले रविवार को लोगों ने बीच पर जाकर लुत्फ उठाया।

दुनिया में अब तक कोरोना के 6 करोड़ 31 लाख 64 हजार 883 मामले सामने आ चुके हैं। 14 लाख 66 हजार 27 लोगों की मौत हो चुकी है। अच्छी बात ये कि अब तक 4 करोड़ 36 लाख 41 हजार 631 लोग ठीक हो चुके हैं।

चीन: वायरस पर नया प्रोपेगैंडा फैला रहा
पूरी दुनिया में कोरोनावायरस चीन के वुहान से ही फैला। अब चीन नया प्रोपेगैंडा फैला रहा है। चीनी मीडिया इस बात को बढ़-चढ़कर बता रहा है कि वायरस चीन से नहीं फैला। उनके देश में यह वायरस फ्रोजन फूड्स के जरिए किसी बाहर के देश से आया। ‘पीपुल्स डेली’ समेत कई चीनी अखबारों के मुताबिक- सभी सबूत इस बात की ओर इशारा करते हैं कि कोरोनावायरस आउटब्रेक वुहान में नहीं हुआ। चीन के पूर्व चीफ एपिडेमियोलॉजिस्ट झेंग गुआंग का कहना है कि वुहान में वायरस का पता चला, लेकिन वहां पैदा नहीं हुआ

ब्रिटेन: नए मामलों में कमी

इस बीच, ब्रिटेन में महीनेभर के लॉकडाउन से नए मामलों में 30% की कमी देखी गई है। करीब एक लाख वॉलंटियर्स पर की गई स्टडी के ये नतीजे सोमवार को सामने आए। केस बढ़ने पर ब्रिटेन में 5 नवंबर को दूसरा लॉकडाउन लगाया गया था। इंपीरियल कॉलेज ऑफ लंदन की स्टडी में बताया गया कि 16 अक्टूबर से 2 नवंबर के बीच 10 हजार लोगों पर 130 केस सामने आ रहे थे। वहीं, लॉकडाउन के बाद 13 से 24 नवंबर के बीच केस घटकर 10 हजार लोगों पर 96 रह गए।

कोरोना प्रभावित टॉप-10 देशों में हालात

देश संक्रमित मौतें ठीक हुए
अमेरिका 13,750,404 273,072 8,107,203
भारत 9,432,075 137,177 8,846,313
ब्राजील 6,314,740 172,848 5,578,118
रूस 2,269,316 39,527 1,761,457
फ्रांस 2,218,483 52,325 161,427
स्पेन 1,646,192 44,668 उपलब्ध नहीं
यूके 1,617,327 58,245 उपलब्ध नहीं
इटली 1,585,178 54,904 734,503
अर्जेंटीना 1,418,807 38,473 1,249,843
कोलंबिया 1,308,376 36,584 1,204,452

(आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं)

इन देशों के बारे में भी जानें
इराक: फरवरी के बाद पहली स्कूल खुल चुके हैं। हफ्ते में 6 दिन बच्चे पढ़ने जा रहे हैं। सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जा रहा है।
लेबनान: आर्थिक मोर्चे पर जूझ रहे देश ने कोरोना प्रतिबंधों में कुछ छूट दी है, ताकि क्रिसमस और नए साल से पहले इकोनॉमी को कुछ बेहतर किया जा सके।
टर्की: यहां स्थिति लगातार बिगड़ रही है। रविवार को लगातार 7वें दिन रिकॉर्ड मौतें (185) हुईं।
फिलिस्तीन: सुविधाओं की कमी के चलते यहां भी मामले बढ़ रहे हैं। WHO ने गाजा के एक हॉस्पिटल में 15 वेंटिलेटर दिए हैं।

 

- Advertisement -spot_img
Before The Shopping Click HareGet Coupons

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

- Advertisement -spot_img

Related News

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here