- Advertisement -
HomeNewsHindi NewsWHO की अपील: अमीर देशों ने बंद की बूस्टर खुराक; फ्रांस और...

WHO की अपील: अमीर देशों ने बंद की बूस्टर खुराक; फ्रांस और जर्मनी आमतौर पर सहमत नहीं हैं, जबकि इज़राइल पहले से ही बूस्टर खुराक का उपयोग कर रहा है

- Advertisement -

डब्ल्यूएचओ की अपील के बावजूद फ्रांस और जर्मनी सितंबर से बूस्टर डोज अभियान शुरू करेंगे। इजराइल पहले से ही बूस्टर डोज दे रहा है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज पर रोक लगाने की मांग की है। डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस अदनोम घेब्रेयसस ने कहा- ‘कोरोना टीकाकरण में अमीर और गरीब देशों के बीच की खाई चौड़ी होती जा रही है। अमीर देशों को कम टीकाकरण वाले देशों के हित में बूस्टर खुराक से बचना चाहिए।

अमीर देश अपने लोगों को डेल्टा वैरिएंट से बचाना चाहते हैं। मैं उनकी चिंता समझता हूं। लेकिन टीकों की वैश्विक आपूर्ति की उपेक्षा नहीं की जानी चाहिए। हमें गरीब देशों को टीकों की आपूर्ति करनी है। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक अमीर देशों में हर 100 लोगों को 50 डोज दी जा चुकी है। जबकि गरीब देशों में प्रति 100 लोगों को केवल 1.5 खुराक दी गई है। डब्ल्यूएचओ की अपील के बावजूद फ्रांस और जर्मनी सितंबर से बूस्टर डोज अभियान शुरू करेंगे। इजराइल पहले से ही बूस्टर डोज दे रहा है।

डॉ. फाउची की चेतावनी- अमेरिका में दोगुने हो सकते हैं कोरोना के मामले
अमेरिकी महामारी विज्ञानी डॉ. एंथनी फौसी ने कहा कि देश में कोविड-19 के मामले दोगुने हो सकते हैं, क्योंकि डेल्टा से एक खतरनाक रूप आने की आशंका है. आने वाले दिनों में देश को इस वायरस के और भी घातक रूपों का सामना करना पड़ सकता है।

- Advertisement -
- Advertisement -

Stay Connected

16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe

Must Read

Related News

- Advertisement -spot_img
Visit Us On FacebookVisit Us On Twitter